पीएम कुसुम योजना : केंद्र सरकार सोलर पंप पर देगी 60% अनुदान

पीएम कुसुम योजना : केंद्र सरकार सोलर पंप पर देगी 60% अनुदान

सभी राज्य के किसान कर सकते हैं इस योजना के लिए आवेदन, 60% अनुदान का उठाएं लाभ

पीएम कुसुम योजना केंद्र सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। इसके तहत सरकार का लक्ष्य है कि 2022 तक किसानों की आय दुगुनी कर दिया जाए। सरकार सोलर पंप से सिंचाई को प्रोत्साहित तो कर ही रही है साथ ही तालाब एवं जल छाजन परियोजनाओं पर भी जोर दे रही है ताकि किसानों को पर्याप्त जल भी मिले और बिना किसी ईंधन के सिंचाई के साधन भी। केंद्र सरकार किसानों को सोलर पंप लेने पर 60% का अनुदान देती है। पीएम कुसुम योजना, राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, उत्तराखंड, आदि सभी राज्यों चल रही है। इसके तहत किसानों को राज्य सरकार के तरफ से भी अतिरिक्त अनुदान मिल रहे हैं। जैसे राजस्थान की बात करें तो यहां 30% का अतिरिक्त अनुदान किसानों को इस योजना के तहत मिलते हैं यानी कुल अनुदान 60%+30% यानी 90% हो जाता है। किसानों को राजस्थान में इस योजना का लाभ लेने के लिए मात्र 10% राशि चुकानी होगी। वहीं झारखंड की बात करें तो यहां 36% अनुदान सोलर पंप पर मिलता है जिससे मात्र 4% की राशि किसानों को चुकानी होती है। इसी तरह अलग अलग राज्यों में अलग अनुदान की व्यवस्था है। आइए पीएम कुसुम योजना के बारे में विस्तृत जानकारी, आवश्यक दस्तावेज, पात्रता शर्तें, आवेदन प्रक्रिया आदि की चर्चा करते हैं।

कुसुम योजना नया अपडेट : 3 करोड़ सोलर पंप लगाने हेतु 50 हजार करोड़ रुपए का आवंटन

यदि आप राजस्थान से हैं तो आपको बता दें कुसुम योजना के नए अपडेट के अनुसार राजस्थान सरकार किसानों को सोलर पंप इंस्टॉलेशन में काफी मदद करने वाली है। 10 वर्षों में भारत के सभी डीजल पंपों को सोलर पंप में बदलने का लक्ष्य सरकार द्वारा रखा गया है।

पीएम कुसुम योजना क्या है?

यह एक बहुआयामी योजना है इसके अंतर्गत ना सिर्फ सोलर पंप बल्कि किसान इसे अपने आय का साधन भी बना सकते हैं। किसान अपने बंजर जमीनों पर सोलर पैनल लगवा कर उत्पादित बिजली को बेच कर लाखों रुपए महीना कमा सकते हैं। सौर ऊर्जा संयंत्र के लिए आप भूमि को लीज पर भी ले सकते हैं। आज जिस प्रकार का देश में ऊर्जा संकट देखने को मिल रहा है। राजस्थान एवं देश के अन्य राज्यों में कोयले की कमी से पर्याप्त बिजली उत्पादित नहीं हो पा रही है जिससे भविष्य में भी ऊर्जा संकट देखने को मिलेगा। ऐसे में पीएम कुसुम योजना के आवेदकों की संख्या में बढ़ेगी। सरकार ज्यादा से ज्यादा रेट में भी आपसे बिजली खरीदेगी।  सरकार के तरफ से बिजली खरीद की पूरी गारंटी दी जाती है। चलिए जानते हैं इस योजना के बारे में अन्य कुछ खास जानकारी….!

कुसुम योजना आवेदन शुल्क कितना लगता है?

पीएम कुसुम योजना में आवेदन हेतु आपको एक निर्धारित शुल्क जमा करवाना अनिवार्य होता है। 5 हजार रुपए प्रति मेगावाट की दर से आवेदन शुल्क का भुगतान किया जायेगा। साथ ही इसमें अलग से जीएसटी राशि भी जोड़ी जायेगी। निम्न शुल्क सूची को जरूर देखें।

पैनल क्षमता आवेदन शुल्क
0.5 मेगावाट क्षमता का सोलर पैनल 2500/- रुपए + जीएसटी
1 मेगावाट क्षमता का सोलर पैनल 5000/- रुपए + जीएसटी
1.5 मेगावाट क्षमता का सोलर पैनल 7500/- रुपए + जीएसटी
2 मेगावाट क्षमता का सोलर पैनल 10,000/- रुपए + जीएसटी

कुसुम योजना के लाभ

  • नवीकरणीय संसाधन से बिजली पैदा होने की वजह से यह अन्य ऊर्जा संयंत्र में होने वाले प्रदूषण को कम करती है।

  • पर्यावरण हितैषी तकनीक है।

  • मुफ्त में बिजली मिल जाती है।

  • किसानों की आय में बढ़ोतरी होती है।

कुसुम योजना के उद्देश्य

  • किसानों की आय में वृद्धि करना

  • किसानों को आय के अतिरिक्त विकल्प देना

  • प्रदूषण रहित बिजली पैदा करना

  • देश पर आ रहे ऊर्जा संकट के प्रभाव को कम करना

कितनी होगी कमाई?

यूं अगर आपके राज्य सरकार ने पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत अगर 10% राशि का भी भुगतान करती है तो आपको कुल अनुदान 70% का मिलेगा। जिस राज्य में ज्यादा अनुदान है उसे इस योजना का लाभ भी ज्यादा मिलेगा। 70% अनुदान के साथ 30% की राशि के लिए किसान बैंक से ऋण भी ले सकते हैं। योजना के अंतर्गत 60 हजार से 1 लाख रुपए प्रति महीना आय भी प्राप्त की जा सकती है।
हरियाणा में 30% की अतिरिक्त राशि नाबार्ड द्वारा दी जाती है। जिससे मात्र 10% लागत किसानों को पड़ता है। राजस्थान में 30% दी जाती है, यहां भी किसानों को 10% लागत लगता है। कुसुम योजना के क्रियान्वयन में भी राजस्थान पहले नंबर पर है।

कौन कौन ले सकता है लाभ?

  • किसान

  • किसान उत्पादक संगठन या एफपीओ

  • किसानों का समूह

  • पंचायत

  • किसान सहकारी समिति

  • जल उपभोक्ता एसोसिएशन

पीएम कुसुम योजना की पात्रता शर्तें

  • भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।

  • प्रति मेगावाट किसानों के पास दो हेक्टेयर की भूमि होना अनिवार्य है।

  • किसी भी प्रकार के वित्तीय योग्यता की जरूरत नहीं पड़ती अगर आप बैंक से बिना लोन लिए इस कार्य को करते हैं।

  • 0.5 मेगावाट से 2 मेगावाट क्षमता तक के लिए ही आवेदन किया जा सकता है।

कुसुम योजना आवश्यक दस्तावेजों की सूची

  • राशन कार्ड

  • आधार कार्ड

  • रजिस्ट्रेशन कॉपी 

  • ऑथराइजेशन लेटर

  • जमीन जमाबंदी का छायाप्रति

  • मोबाइल नंबर

  • पासपोर्ट आकार का फोटो

  • बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की छायाप्रति

पीएम कुसुम योजना ऑफलाइन या ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम निम्न दिए गए लिंको पर अपने राज्य के लिंक पर क्लिक करें।

  • सभी राज्यवार तरीके से नीचे लिंक दिए गए हैं।

  • योजना की ऑफिशियल वेबसाइट ( राज्यवार) पर क्लिक करते हुए अपने राज्य के साइट पर निर्देशानुसार आवेदन करें।

राज्यवार आवेदन लिंक के लिए ये सूची देखें।

पीएम किसान योजना ऑफलाइन/ ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया राजस्थान, आंध्रप्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, दिल्ली आदि के लिए ये सूची देखें और आवेदन लिंक पर क्लिक करें।

प्रमुख भारतीय राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश पीएम कुसुम योजना आवेदन लिंक ( राज्यवार)
बिहार https://breda.bih.nic.in/brd/Default.aspx
छत्तीसगढ़ https://cspdcl.co.in/cseb/(S(bhb1qcqbccysjidcwi33jllh))/frmKusumIndex.aspx
हरियाणा https://pmkusum.uhbvn.org.in/
हिमाचल प्रदेश https://himurja.hp.gov.in/
झारखंड https://www.jreda.com/
मध्यप्रदेश http://www.mprenewable.nic.in/solarh.html
ओडिशा https://oredaodisha.com/kisan-urja-suraksha-evam-utthan-mahabhiyan-kusum-scheme/
राजस्थान http://rreclmis.energy.rajasthan.gov.in/kusum.aspx
उत्तरप्रदेश http://upneda.org.in/KUSUM_Yojna.aspx
उत्तराखंड  https://ureda.uk.gov.in/
महाराष्ट्र https://kusum.mahaurja.com/solar/benf_login
मणिपुर http://manireda.com/?page_id=1223

पीएम कुसुम योजना हेल्पलाइन नंबर

पीएम कुसुम योजना हेल्पलाइन नंबर इस प्रकार है।

  • सामान्य संपर्क संख्या ( कॉल चार्जेस के साथ) - 011- 243600707, 011-24360404

  • टोल फ्री नम्बर - 18001803333

पीएम कुसुम योजना से संबंधित सवाल 

Q. कुसुम योजना में अपना नाम कैसे देखें?

कुसुम योजना में अपना नाम देखने के लिए आपको योजना के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। पंजीकृत आवेदकों की सूची पर क्लिक करते हुए आप अपना नाम देख सकते हैं।

Q. प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना क्या है?

इस योजना का लाभ उठाकर किसान अपने खेतों में सोलर पैनल लगवा कर मुफ्त सिंचाई का प्रबंध कर सकते हैं। इसके साथ साथ सिंचाई के अतिरिक्त किसान इसे आय का जरिया भी बना सकते हैं।

Q. सोलर पंप की कीमत कितनी है?

अलग-अलग क्षमता वाले सोलर पंप की कीमतें अलग-अलग है। 

  • 3 एचपी के लिए 2.5 लाख

  • 2 एचपी के क्षमता के लिए पंप की कीमत 1.80 लाख 

  • 10 एचपी के पंप की कीमत 6 लाख रुपए

Q. सोलर पंप ऑनलाइन कैसे करें?

  • सोलर पंप योजना के ऑनलाइन आवेदन हेतु राज्यवार तरीके से लिंक पर क्लिक करते हुए आवेदन करना होगा।

  • उपरोक्त सभी आवेदन लिंक में से अपने राज्य के लिंक का चुनाव करें।

  • वेबसाइट पर दिए गए निर्देश के अनुसार आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन करें।

Q. कुसुम योजना कब स्टार्ट हुई?

कुसुम योजना की शुरुआत 2018-19 में हुई है।

Q.  सोलर पंप योजना में आवेदन कैसे करें?

  • उपरोक्त राज्यवार लिंक के अनुसार इस योजना के लिए आवेदन लिंक पर क्लिक करें।

  • उसके बाद निर्देशानुसार सोलर पंप योजना में आवेदन करें।

Q. सौर ऊर्जा लगाने में कितना खर्चा आता है?

न्यूनतम एक लाख रुपए तक खर्च करके आप सोलर पैनल लगवा सकते हैं। हर राज्य में अलग खर्च आता है। क्योंकि राज्य अपने किसानों को अलग अलग अनुदान देती है।

Q. राजस्थान में सौर ऊर्जा पर सब्सिडी कितनी है?

राजस्थान सौर ऊर्जा सब्सिडी योजना के अंतर्गत राजस्थान में कुल कीमत पर 60% अनुदान दिया जाता है।

Q. 1 किलोवाट का सोलर पैनल कितने का है?

1 किलोवाट सोलर पैनल की कीमत 1 लाख रुपए के करीब होती है। आपके घर तक पहुंचा कर इसे इंस्टॉल भी कर दिया जाता है।

ट्रैक्टरफर्स्ट हर माह महिंद्रा ट्रैक्टर व सोनालिका ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर बिक्री की थोक, खुदरा, राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ट्रैक्टरफर्स्ट आपको रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री के अपडेट जानने के लिए आप हमारे हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें -  https://bit.ly/3DN8jHq

Website     -   TractorFirst.com
Instagram  -   https://bit.ly/3h0j9jE
LinkedIn    -   https://bit.ly/3BDzORV
FaceBook  -   https://bit.ly/3yF7AnV

Cancel

New Tractors

Implements

Harvesters