बीज मिनीकिट परियोजना : 15 राज्यों के किसानों को मुफ्त में मिलेंगे तिलहन बीज

बीज मिनीकिट परियोजना : 15 राज्यों के किसानों को मुफ्त में मिलेंगे तिलहन बीज

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत, तिलहन उत्पादन पर दिया जा रहा जोर

गौरतलब है कि देश में तिलहन का उत्पादन पर्याप्त नहीं हो पा रहा है। सरसों तेल की कमी की वजह से जिस प्रकार की भाव में तेजी आई है इससे उपभोक्ता काफी परेशान हैं। सरकार चाहती है कि देश खाद्यान्न की तरह ही खाद्य तेलों के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बने। इसके लिए ऑयल सीड और पॉम ऑयल योजना अथवा बीज मिनिकिट योजना की शुरुआत हुई है। सरसों के रेट या भाव में आई तेजी के अतिरिक्त सूरजमुखी तेल, पाम तेल, फॉर्च्यून आदि के भाव में भी वृद्धि हुई है। 

सरसों बीज मिनिकिट वितरण शुरू

जो किसान सरसों की खेती करना चाहते हैं उनके लिए बेहतरीन खबर निकल कर सामने आ रही है। 15 राज्यों में 8 लाख से भी ज्यादा मिनिकिट वितरित किए जायेंगे। बीज मिनिकिट परियोजना कार्यक्रम की शुरुआत 11 अक्टूबर से की गई है। मध्यप्रदेश के मुरैना एवं श्योपुर जिले से इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया। लगभग 2 करोड़ रुपए के बीज वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसमे 15 राज्यों के 8 लाख से भी अधिक किसानों को फायदा पहुंचेगा।

इन इन राज्यों में बटेंगे मुफ्त बीज

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत ऑयल के उत्पादन हेतु सरकार विभिन्न राज्यों में मुफ्त में किसानों को बीज मुहैया करवा रही है। देश के जितने भी मुख्य सरसों उत्पादक राज्य हैं उन सभी राज्यों में बिल्कुल मुफ्त सरसों के बीज किसानों को दिए जायेंगे। 15 राज्यों के 343 जिलों में ये परियोजना क्रियान्वित की जायेगी और किसानों को लाभ दिया जायेगा। 20 क्विंटल प्रति हेक्टेयर से भी अधिक उत्पादन देने वाली उच्च किस्मों के बीज किसानों को दिए जायेंगे ताकि उनका उत्पादन बढ़े। किसानों की आय में वृद्धि होने के साथ उपभोक्ताओं को सस्ते दरों पर सरसों का तेल उपलब्ध हो जाए। इस कार्यक्रम के तहत देश के प्रमुख खाद्य तेल उत्पादक राज्य में बीज वितरण किए जायेंगे। बीज मिनिकिट योजना कार्यक्रम में बिहार, छत्तीसढ़, मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, झारखंड, पंजाब, असम, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों में बीज वितरण किए जाने तय हैं। तोमर ने आगे कहा है, गुजरात के बनासकांठा, हरियाणा के हिसार, राजस्थान के भरतपुर, उत्तरप्रदेश के एटा एवं मध्यप्रदेश के मुरैना एवं श्योपुर जिलों को हाइब्रिड बीज मिनिकिट वितरण हेतु चुना गया है। हर एक जिले के लिए 15 से 20 हजार बीज मिनिकिट दिए जायेंगे।

कौन कौन से किस्म होंगे वितरित?

सरसों की खेती के लिए किसानों को दिए जाने वाले मुफ्त बीज काफी अच्छी क्वालिटी के होंगे और सरसों के उच्च किस्म होंगे। चयनित किस्में जेके- 6502, एवं चैंपियन डॉन है जो सरसों की तीन टीएल हाइब्रिड किस्मों में से एक है। बीज मिनिकिट कार्यक्रम के तहत बेहतरीन किस्मों के बीज देकर किसानों के उत्पादन को बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है। बीज मिनिकिट योजना राजस्थान के बारे में पूरी जानकारी हेतु यहां क्लिक करें।

ट्रैक्टरफर्स्ट हर माह आयशर ट्रैक्टर व न्यू हॉलैंड ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर बिक्री की थोक, खुदरा, राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ट्रैक्टरफर्स्ट आपको रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री के अपडेट जानने के लिए आप हमारे हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें -  https://bit.ly/3DN8jHq

Website     -   TractorFirst.com
Instagram  -   https://bit.ly/3h0j9jE
LinkedIn    -   https://bit.ly/3BDzORV
FaceBook  -   https://bit.ly/3yF7AnV

Cancel

New Tractors

Implements

Harvesters