उद्यमी मित्र पोर्टल : डेयरी फार्मिंग किसानों को मिलेगा सस्ता लोन

उद्यमी मित्र पोर्टल : डेयरी फार्मिंग किसानों को मिलेगा सस्ता लोन

आत्मनिर्भर भारत योजना में पशुपालन के लिए 15 हजार करोड़ रुपए आवंटित

भारत के अधिकांश किसान खेती के साथ पशुपालन से भी जुड़े हुए हैं। किसानों के घरों पर दुधारू पशु आसानी से देखे जा सकते हैं। किसान खेती के अलावा दूध बेचकर भी अपनी कमाई करता है। केंद्र की मोदी सरकार भी चाहती है कि देश के किसानों की आय 2022 तक दोगुनी हो। इसके लिए अनेक योजनाओं के माध्यम से किसानों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। सरकार किसानों को नकद सहायता, एग्रीकल्चर लोन, पशुपालन लोन, नकद सब्सिडी, कृषि यंत्रों पर सब्सिडी, ट्रैक्टर पर सब्सिडी, खाद-बीज पर सब्सिडी, बिजली बिल में छूट आदि राहत प्रदान कर रही है। सरकार का मानना है कि डेयरी फार्मिंग सेक्टर को बढ़ावा देकर किसानों की आय को बढ़ाया जा सकता है। आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए पशुपालन अवसरंचना कोष विकास निधि के लिए 15 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

आत्मनिर्भर भारत योजना में पशुपालन को ऐसे दिया जाएगा बढ़ावा

आत्मनिर्भर भारत योजना के माध्यम से केंद्र सरकार देश के लोगों को उनके व्यवसाय में आत्मनिर्भर बनाना चाहती है। इसके लिए कई तरह से सहायता प्रदान की जा रही है। इस योजना में पशुपालन अवसरंचना कोष विकास निधि के माध्यम से पशुपालकों की सहायता की जा रही है। योजना का मुख्य उद्देश्य पशुपालक किसानों की आय में वृद्धि करना है। पशुपालन के जरिए दूध और मांंस के प्रसंस्करण की क्षमता को बढ़ाया जाएगा। पशुपालकों को दूध और मांस का सही दाम दिलाया जाएगा। पशुपालकों को सस्ती कीमत पर चारा उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा डेयरी फार्मिंग से जुड़े उत्पादों में विविधता लाने का प्रयास किया जाएगा। सरकार चाहती है कि पशुपालन से किसानों की आय में वृद्धि हो, वहीं देशवासियों को प्रोटीन के स्त्रोत जैसे दूध और मांस उचित कीमत पर मिलें। पशुपालन को बढ़ावा देने से देश में रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे और युवा पीढ़ी को रोजगार मिलेगा। साथ ही मांस और दूध के क्षेत्र में निर्यात को भी बढ़ावा मिलेगा। 

उद्यमी मित्र पोर्टल : पशुपालन के लिए लोन मिलना अब आसान

आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत जो किसान पशुपालन /डेयरी फार्मिंग से जुड़ा काम करना चाहते हैं वे किसान उद्यमी मित्र पोर्टल (https://udyamimitra.in/) पर जाकर बैंकों की सूची देख सकते हैं और योजना से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। किसान व पशुपालक योजना के माध्यम से सस्ता लोन लेकर पशुपालन से जुड़े संंबंधित उद्योग स्थापित कर सकते हैं। बैंकों की ओर से 90 फीसदी तक वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाती है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री द्वारा घोषित आत्मनिर्भर भारत अभियान प्रोत्साहन पैकेज में 15 हजार करोड़ रुपए पशुपालन अवसंरचना विकास कोष (एएचआईडीएफ) की स्थापना के बारे में उल्लेख किया गया है। इसमें पशुपालन अवसंरचना विकास कोष (एएचआईडीएफ) को व्यक्तिगत उद्यमियों, निजी कंपनियों, किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) और सेक्शन 8 कंपनियों द्वारा निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए अनुमोदित किया गया है। योजना के माध्यम से डेयरी प्रसंस्करण और उत्पाद विविधीकरण अवसंरचना,) मांस प्रसंस्करण और उत्पाद विविधीकरण अवसंरचना और पशु चारा संयंत्र को बढ़ावा दिया जाएगा। 

डेयरी फार्मिंग से जुड़ी यूनिट की स्थापना  पर मिलेगा लोन

आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत सरकार की ओर से डेयरी फार्मिंग से जुड़ी यूनिट की स्थापना करने के लिए सस्ती ब्याज दरों पर लोन उपलब्ध कराया जाएगा। इनमें आइसक्री यूनिट, पनीर यूनिट, फ्लेवर्ड मिल्क यूनिट, टेट्रा पैकेजिंग सुविधाओं साथ दूध प्रसंस्करण यूनिट, मिल्क पाउडर निर्माण यूनिट, मट्ठा पाउडर निर्माण यूनिट और मांस प्रसंस्करण यूनिट शामिल है। 

उद्यमी मित्र पोर्टल : डेयरी फार्मिंग लोन के लिए ऐसे करें आवेदन

उद्यमी मित्र पोर्टल पर डेयरी फार्मिंग से जुड़े कार्यों के लिए लोन की सुविधा उपलब्ध है। लोन के लिए आवेदन करना बेहद सरल है। सबसे पहले आपको उद्यमी मित्र पोर्टल पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके बाद आवेदन प्रक्रिया से संबंधित पेज खुलेगा। इस पेज पर आप लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद पशुपालन विभाग द्वारा आपके आवेदन की विस्तृत समीक्षा की जाएगी। विभाग से अनुमति मिलने के बाद संबंधित बैंक आपको डेयरी फार्मिंग के लिए लोन उपलब्ध कराएगा और लोन राशि आपके खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

ट्रैक्टरफर्स्ट हर माह सोनालिका ट्रैक्टर व कुबोटा ट्रैक्टर कंपनियों सहित अन्य कंपनियों की मासिक सेल्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है। ट्रैक्टर्स सेल्स रिपोर्ट में ट्रैक्टर बिक्री की थोक, खुदरा, राज्यवार, जिलेवार, एचपी के अनुसार जानकारी दी जाती है। साथ ट्रैक्टरफर्स्ट आपको रिपोर्ट की मासिक सदस्यता भी प्रदान करता है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

ट्रैक्टर इंडस्ट्री के अपडेट जानने के लिए आप हमारे हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें -  https://bit.ly/3DN8jHq

Website     -   TractorFirst.com
Instagram  -   https://bit.ly/3h0j9jE
LinkedIn    -   https://bit.ly/3BDzORV
FaceBook  -   https://bit.ly/3yF7AnV

Cancel

New Tractors

Implements

Harvesters